Shaheed Diwas shayari 2020 | Shaheed Diwas quotes & status 2020

Shaheed Diwas shayari 2020 | Shaheed Diwas quotes & status 2020






Shaheed Diwas 2020 ( Martyrs'Day ) :  भारत में कई तिथियां शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है जिनमे से दो शहीद दिवस प्रमुख माने जाते हैं, 30 जनवरी 1948 को महात्मा गाँधी जी ( बापू ) की हत्या हुई थी, और एक 23 मार्च 1931 को अंग्रेजों ने भगत सिंह और उनके साथी राजगुरु, सुखदेव  को फांसी दी गई थी, और इन शहीद भाइयो के लिए कुछ अनमोल शायरी, कोट्स लिखी हुई है इसलिए आज हम अपनी पोस्ट में आपके लिए शहीद जवान भाइयो के ऊपर लिखी कुछ खास शायरी आपके लिए ले कर आये हैं | 


Shaheed Diwas quotes & status 2020
Shaheed Diwas shayari 2020 | Shaheed Diwas quotes & status 2020
Shaheed Diwas shayari 2020 | Shaheed Diwas quotes & status 2020



























bhagat singh shayari 2020 
bhagat singh shayari 2020
bhagat singh shayari 2020 

























वतन के लिए जो फना हो गए हैं तिरंगा उन्ही की सुनाता कहानी है किया दिल से हर फैसला ज़िन्दगी का कोई बात समझी, न बुझी, न जानी है | 



bhagat singh status 2020 
bhagat singh status 2020
bhagat singh status 2020 

























गुलाम बने इस देश को आजाद तुमने कराया है सुरक्षित जीवन देकर तुमने कर्ज अपना चुकाया है 



quotes by bhagat singh 
quotes by bhagat singh
quotes by bhagat singh 


























मुकम्मल है इबादत और मैं  ईमान रखता हूँ वतन की शान की खातिर हथेली पर जान रखता हूँ क्यों पढ़ते हो मेरी आँखों में नक्शा किसी और का देशभक्त हूँ दिल में हिंदुस्तान रखता हूँ | 



शहीद दिवस शायरी इन हिंदी 2020 
शहीद दिवस शायरी इन हिंदी 2020
शहीद दिवस शायरी इन हिंदी 2020 



























लिख रहा हूँ मैं अंजाम जिसका कल आगाज आएगा मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लाएगा मैं रहूँ या नरहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा की मेरे बाद वतन पर मरने वालो का सैलाव आएगा | 




shaheed diwas shayari in hindi 2020
shaheed diwas shayari in hindi 2020
shaheed diwas shayari in hindi 2020
























सीने पर जो जख्म है सब फूलों के गुच्छे है हमें पागल हैं हमें पागल ही रहने दो हम पागल ही अच्छे हैं | 


 भगत सिंह शायरी 2020 | शहीद भगत सिंह शायरी 2020 

भगत सिंह शायरी 2020 | शहीद भगत सिंह शायरी 2020
भगत सिंह शायरी 2020 | शहीद भगत सिंह शायरी 2020 

























सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है देखते है जोर कितना बाजु - ए - क़ातिल में है देश के शहीदों को नमन | 



bhagat singh photo 2020 | bhagat singh image 2020  
bhagat singh photo 2020 | bhagat singh image 2020
bhagat singh photo 2020 | bhagat singh image 2020  

























अपनी आजादी को हम हरगिज भूल सकते नहीं है सर कटा सकते है लेकिन सर झुका सकते नहीं | देश के शहीदों को नमन | 




bhagat singh real photo | bhagat singh photos hd
bhagat singh real photo | bhagat singh photos hd
bhagat singh real photo | bhagat singh photos hd

























मन को खुद ही मगन कर लो कभी कभी शहीदों को भी नमन कर लो | देश के शहीदों को नमन | 




bhagat singh images hd | bhagat singh hd images
bhagat singh images hd | bhagat singh hd images
bhagat singh images hd | bhagat singh hd images
























जशन आजादी का मुबारक हो देश वालो को फंदे से मोहब्बत थी हम वतन के मतवालों को | देश के शहीदों को नमन। 


bhagat singh wallpapers hd 2020 
bhagat singh wallpapers hd 2020
bhagat singh wallpapers hd 2020 

























ज़माने भर में मिलते है आशिक़ कई मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता,नोटों में भी लिपट कर सोने में सिमट कर मरे है कई मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता। देश के शहीद को नमन। 




23 march shaheed diwas 
23 march shaheed diwas
23 march shaheed diwas 



यदि प्रेरड़ा शहीदों से नहीं लेंगे ये आज़ादी ढलती हुई
साँझ हो जाएगी और पूजे न जाये वीर तो सच कहता हूँ
 की नौजवानी बोझ हो जाएगी देश के शहीदों को नमन। 




23 march shaheed diwas status 2020 
23 march shaheed diwas status 2020
23 march shaheed diwas status 2020 


इतनी सी बात हवाओ को बताये रखना रौशनी होगी चिरागों
को जलाए रखना लहू देकर की है जिसकी हिफाज़त हमने
ऐसे तिरंगे को हमेशा अपने दिल में बसाए रखना। 



23 march shaheed diwas quotes in hindi
23 march shaheed diwas quotes in hindi
23 march shaheed diwas quotes in hindi

चलो फिर से आज वो नजारा याद कर ले शहीदों के दिल
में थी जो ज्वाला वो याद कर ले जिसमे बहकर आजादी
पहुची थी किनारे पे देशभगतो के खून की वो धरा याद कर ले। 




 शहीद भगत सिंह शायरी  2020 
 शहीद भगत सिंह शायरी  2020
 शहीद भगत सिंह शायरी  2020 


वतन वालो वतन ना बेच देना ये धरती ये चमन ना बेच देना
शहीदों ने जान दी है वतन के वास्ते शहीदों के कफ़न ना बेच देना। 




भगत सिंह शायरी इन हिंदी 2020 | शहीद दिवस शायरी 2020 
भगत सिंह शायरी इन हिंदी 2020 | शहीद दिवस शायरी 2020
भगत सिंह शायरी इन हिंदी 2020 | शहीद दिवस शायरी 2020 


जब तुम शहीद हुए थे तो ना जाने कैसे तुम्हारी
माँ सोई होगी एक बात तो तय है तुम्हे लगने वाली
गोली भी सौ बार रोई होगी। देश  शहीदों को नमन। 



bhagat singh quotes 2020 
bhagat singh quotes 2020
bhagat singh quotes 2020 


























सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमरे दिल में है देखना है ज़ोर कितना बाजु - ए -कातिल में है। 




हम उम्मीद करते हैं आपको हमारी यह शहीद दिवस शायरी 2020 पसंद आई होगी, अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो हमें कमेंट कर के ज़रूर बताएं आपकी एक कमेंट हमें बोहोत मोटीवेट करती है हमें इसी तरह की पोस्ट लिखने के लिए, और हमारी पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे अपने फ्रेंड्स, फॅमिली, रिलेटिव्स के साथ  शेयर करे | 


23 मार्च शहीद दिवस क्यों मनाया जाता है इंडिया में.


shaheed diwas ( Martyrs Day ) : 23 मार्च  शहीद दिवस हमरे देश में मनाया जाता है क्यों की शहीद जवानो ने देश की रक्षा और गुलामी से बचाने के लिए शहीदों ने जान की परवाह नहीं करते हुए अपना जीवन भारत माता की रक्षा करने के लिए निछबार कर दी थी, हमरे भारत देश में बोहोत से शहीद जवानो ने अपनी जान और जीवन अपने देश की रक्षा के लिए दे दी थी और अभी भी  हमारे देश की इंडियन आर्मी , पुलिस ( indian Army, Police, ) जवान अपनी जान की परवाह न करते हुए अपने देश की रक्षा करते हैं 



23 मार्च को क्या हुआ था :  23 मार्च 1931 मैं क्रन्तिकारी भगत सिंह और उनके साथियो ने भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान भगत सिंह,  ( bhagat singh ) राजगुरु, सुखदेव , को फांसी दी गई थी सुच बात तो यह है की इनकी फांसी कोर्ट ने 24 मार्च 1931 को सुबह 8 बजे देने का आर्डर दिया गया था मगर अंग्रेजों ने क्रांतिकारियों के डर के कराड उन्होंने एक दिन पहले 23 मार्च  को शाम को चुपके से फांसी दे दी थी, अंग्रेजों ने फांसी चुपके से इसलिए दी थी क्रन्तिकारी सभी लोग उनको बचाने के लिए एक साथ जमा होने लगे थे और देखते ही देखते भारी संखया में लोग एकत्रित हो रहे थे, और इसी को देखते अंग्रेजों ने एक दिन पहले ही 23 मार्च को ही उनको शाम के टाइम फांसी दे दी थी, भगत सिंह  हिम्मत वाले और बहादुर थे वह देश प्रेमी थे  और फांसी पर हस्ते - हस्ते  फंदे पर झूल गए थे, पूरा देश उन शहीदों को और  उनकी क़ुरबानी को याद रखेगा, उन्होंने देश की आज़ादी के लिए अपनी ज़िन्दगी कुरआन कर दी थी और  शहीदों की याद में हर साल  23 मार्च  को  उनके इस बलिदान को याद करते हैं | और नमन करते है उनको जय हिन्द | 



भारत में शहीद दिवस कब कब मनाये जाते हैं ( शहीद दिवस ) 


हमारा भारत महान इसलिए है क्यों की हमारे देश के लिए हमारे कई देश भगतों ने इस देश को बचाने के लिए अपनी जान भी हस्ते हस्ते अपने देश के लिए कुर्बान कर दी थी इसलिए भारत में कई तिथियाँ शहीद दिवस के रूप में मनायी जातीं हैं, जिनमें से - 30 जनवरी, 23 मार्च, और 21 अक्टूबर, 17 नवम्बर, 19 नवम्बर तथा 27 मई । 21 अक्टूबर पुलिस द्वारा मनाया जाने वाला शहीद दिवस है। केन्द्रीय पुलिस बल के जबानो 1959 में लद्दाख में चीनी सेना द्वारा एंबुश में मारे गए थे। 30 जनवरी 1948 को महात्मा गाँधी जी की हत्या हुई थी और 23 मार्च को अंग्रेजों ने हमारे देश भगतों, भगत सिंह, और उनके साथी राजगुरु, सुखदेव को फांसी दी गई थी |



शहीद दिवस कैसे मानते हैं 

शहीद दिवस के दिन हमारे भारत के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधान मंत्री आदि दिल्ली के राजघाट पर महात्मा गाँधी जी ( बापू )  की समाधी पर फूलो की माला चढ़ाकर और भारत की सेना बालो के द्वारा सलामी देकर हमारे शहीद भाइयों को श्रृद्धांजलि देते हैं और सभी लोग हमारे शहीद  भाइयों की याद में २ मिनट का मौन धारण करते हैं | 



अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई हो तो हमें कमेंट कर के ज़रूर बताये क्यों की आपका एक कमेंट हमें इसी तरह की पोस्ट लिखने के लिए मोटीवेट करता है, अगर हमारी पोस्ट में आपको  कोई कमी लग रही हो तो आप हमें कमेंट भी कर सकते हैं और हमारी gmail Id पर हमें मेल भी कर सकते हैं 

Thank You SO Much 




टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां