Desh Bhakti Shayari 2020 in Hindi | Desh Bhakti Shayari 2020

Desh Bhakti Shayari 2020 in Hindi | Desh Bhakti Shayari 2020

Desh Bhakti Shayari : आज हम आपके लिए लाये हैं  Desh Bhakti Shayari 2020 in Hindi, Desh Bhakti Shayari 2020, desh bhakti shayari in hindi, shayari on desh bhakti, desh bhakti shayari images, देशभक्ति शायरी 2020, desh bhakti shayari 2020 in hindi image, desh bhakti shayari, desh bhakti shayari hindi me, desh bhakti hindi shayari, हम उम्मीद करते है आपको हमारी शायरी पसंद आएँगी। 



Desh Bhakti Shayari 2020 in Hindi | Desh Bhakti Shayari 2020
Desh Bhakti Shayari 2020 in Hindi | Desh Bhakti Shayari 2020



desh bhakti shayari

जिन्हें है प्यार वतन से, वो देश के 
लिए अपना लहू बहाते हैं, माँ की 
चरणों में अपना शीश चढ़ाकर, 
देश की आजादी बचाते हैं, देश 
के लिए हँसते-हँसते अपनी जान लुटाते हैं | 

Jinhe hai pyaar watan se wo desh 
ke liye apna lahu bahate hai maa ki 
chardon mein apna shish chadakar
desh ki ajadi bachate hai, desh ke liye 
hanste - hanste apni jaan lutate hai.


desh bhakti shayari in hindi 2020

नशा देश का है साहब जान देने 
से भी नहीं गभराते है ये हिंदुस्तान 
के बेटे है मौत को जेब में रख कर 
मुस्कुराते है। जय हिन्द। 

nasha desh ka hai sahab jaan dene
se bhi nhi gabhrate hai ye hindustaan
ke bete hai maut ko jeb mein rakh kar 
muskurate hai, Jai hind,


desh bhakti shayari hindi me

देश को आजादी के नए अफसानों की जरूरत है 
भगत-आजाद जैसे आजादी के दीवानों की जरूरत है, 
भारत को फिर देशभक्त परवानों की जरूरत है..!!

Desh ko ajadi ke naye afsaanon ki zarurt hai
bhagat ajaad jese ajadi ke diwano ki zarurat hai
bharat ko fir deshbhakt parwanon ki zarurt hai.



desh bhakti hindi shayari

लिख रहा हूं मैं अंजाम जिसका
कल आगाज आएगा
मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लाएगा
मैं रहूं या ना रहूं पर ये वादा है
तुमसे मेरा कि मेरे बाद वतन पर
मरने वालो का सैलाब आएगा.

Likh raha hun Aanjam jiska kal agaz ayega
mere lahu ka har ek katra inklab layega
me rahun ya na rahun par ye wada hai
tumse mera ki mere bad watan par
marne walo ka selab Aayega,


desh bhakti shayari image 

Desh Bhakti Shayari in Hindi image,
Desh Bhakti Shayari in Hindi image


desh bhakti shayari in hindi

खूब बहती है, अमन की गंगा बहने दो,
मत फैलाओ देश में दंगा रहने दो,
लाल हरे रंग में ना बाटो हमको,
मेरे छत पर एक तिरंगा रहने दो.

khub bahati hai aman ki ganga bahane do
mat felao desh mein ganga rahne do
laal hare rang mein naa bato humko
mere chhat par ek tiranga rahne do.


hindi desh bhakti shayari

किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ,
मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ,
मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ,
मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूँ।

kisi gajre ki khushbu ko mahakata chhod Aaya hun
meri nanhi si chidiya ko chahakta chod Aaya hun
mujhe chhati se apni tu laga lena ee bharat maa
me apni maa ki bahon ko tarsta chhod aya hun.



desh bhakti shayari in hindi pdf

होली वही जो स्वाधीनता की आन बन जाये,
होली वही जो गणतंत्रता की शान बन जाये,
भरो पिचकारियों में पानी ऐसे तीन रंगो का,
जो कपड़े पर गिरे तो हिँदुस्थान बन जाये...
!! जय हिन्द !!

Holi wahi jo swadhinta ki aan ban jaye
holi wahi jo gantantrata ki shaan ban jaye
bharo pichkariyon mein paani ese tin rango ka 
jo kapde par gire to hindusthan ban jaye,
jaye hind


best desh bhakti shayari

इश्क़ भी कर लिया शराब भी आजमा 
ली सरे नशे को देख लिया देश भक्ति 
को काट सके ऐसी कोई दवा नहीं। 

ishq bhi kar liya sharab bhi azmaa
li sare nashe ko dekh liya desh bhakti
ko kaat sake esi koi dava nhi hai.



desh bhakti shayari wallpaper download



Desh Bhakti Shayari image
Desh Bhakti Shayari image

desh bhakti shayari download

ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई , 
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता , 
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई ,
 मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता |

Jamane bhar mein milte hai ashiq kai
magar watan se khubsurat koi sanam nhi hota
noton mein bhi lapat kar sone mein simatkar mare he kai
magar tiranga se khubsurat kai kafan nhi hoga,



desh bhakti shayari in hindi language

भारतमाता के लिए मर मिटना कबूल है मुझे,
अखंड भारत बनाने का... जूनून है मुझे।
Bharatmata Ke Liye Mar Mitna Kabool Hai Mujhe,
Akhand Bharat Banane Ka... Junoon Hai Mujhe.



desh bhakti ki shayari

इस वतन के रखवाले हैं हम
शेर ए जिगर वाले हैं हम
मौत से हम नहीं डरते
मौत को बाँहों में पाले हैं हम
वन्दे मातरम !

is watan ke rakhwale hai hum
shor e zingar wale hai hum
maut se hum nhi darte
maut ko wahon mein pale hai hum
vande matram.


26 january desh bhakti shayari

छत पर चढ़कर आसमान देखता हूँ 
परिंदों की उचाई उड़ान देखता हूँ 
तुम्हे हिन्दू और मुस्लमान दिखते है 
में अपने खून में हिंदुस्तान देखता हूँ। 
chhat par chadkar asman dekhta hun

oarindon ki uchai dekhta hun
tumhe hindu aur muslim dikhte hai 
me apne khun me hindustan dekhta hun.


जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी

desh bhakti shayari 2020 in hindi image
desh bhakti shayari 2020 in hindi image

shayari desh bhakti

हम अपने खून से लिखेंगे कहानी ऐ वतन मेरे,
करे कुर्वान हंस कर ये जवानी ऐ वतन मेरे,
दिली ख्वाइश नहीं कोई मगर ये इल्तजा बस है,
हमारे हौसले पा जाये मानी ऐ वतन मेरे।

Hum apne khun se likhenge kahani ee watan mere 
kare kurwani hans kar ye jawani e watan mere
dili khwaish nhi koi magar ye iltaja bas hai 
hamare hosle paa jaye mani ea watan mere.



desh bhakti shayari bhagat singh

 लिख रहा हूं मैं अजांम जिसका कल आगाज आयेगा,
मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा
मैं रहूँ या ना रहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा कि,
मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा!

Likh raha hun Aanjam jiska kal agaz ayega
mere lahu ka har ek katra inklab layega
me rahun ya na rahun par ye wada hai
tumse mera ki mere bad watan par
marne walo ka selab Aayega,



shayari on desh bhakti

अपनी धरती अपना हैं ये वतन, 
मेरा है मेरा है ये वतन इस पर 
जो आॅंख उठाएगा, जिंदा दफना 
दिया जाएगा मुझे जान से भी प्यारा 
है ये वतन. jai hind

apni dharti apni hai hai ye watan 
mera hai mera hai ye watan is par 
jo Aankh uthayega zinda dafna 
diya jayega mujhe jaan se bhi 
pyaara hai ye watan !! jai Hind !!


new desh bhakti shayari

एये खुदा मुझे मेरी मौत को तब 
तक दूर रखना जब तक में तिरंगे 
में लिपट कर मरने के लायक न हो जाऊ। 
Aaye khuda mujhe meri maut ko tab

tak dur rakhna jan taj me tirange
mein lipat kar marne ke layek na ho jau.




desh bhakti shayari 2020 in hindi photo
desh bhakti shayari 2020 in hindi photo


desh bhakti shayari hindi

ये नफरत बुरी है न पालो इसे,
दिलो में खलिश है निकालो इसे,
न तेरा, न मेरा, न इसका, न उसका,
यह सब का वतन है, बचा लो इसे.

Ye Nafrat Buri Hai Na Paalo Ise,
Dilo Mein Khalish Hai Nikalo Ise,
Na Tera, Na Mera, Na Iska, Na Uska,
Yeh Sab Ka Watan Hai, Bacha Lo Ise.


Desh Bhakti Shayari 2020 || 26 January

देश के लिए कुछ करना है यही 
एक अरमान है जिसकी माँ गैंग 
और हिमाचल पिता महान है 
लाखों अपनी जा दे कर अमर 
कर गए ये वही हिंदुस्तान है। 
desh ke liye kuch karna hai yahi 

ek armaan hai jiski maa ganga
aur himachal pita mahan hai
lakhon apni jaa de kar amar 
kar gaye ye wahi hindustan hai.


indian desh bhakti shayari

करीब कभी आओ तो कोई बात बने,
बुझी आग को जलाओ तो कोई बात बने,
सूख गया है जो लहू शहीदों का,
उसमें अपना खून मिलाओ तो कोई बात बने।

Karib kabhi aao to koi baat bane 
bujhi aag ko jalao to koi baat bane 
sukh gaya hai jo lahu shaheed ka 
usme apna apna khun milao to koi baat bane,


hindi shayari desh bhakti

गुलाम बने इस देश को आजाद तुमने कराया है
सुरक्षित जीवन देकर तुमने कर्ज अपना चुकाया है
दिल से तुमको नमन हैं करते
ये आजाद वतन जो दिलाया है
जय हिन्द.

gumanam bane is desh ko azaad tumne karya hai
surakshit jiwan tumse karj apna chukaya hai
dil se tumko naman hai karte ye azad watan jo dilaya hai
!! jai hind !!



desh bhakti shayari images
desh bhakti shayari images

desh bhakti shayari hindi mai

तीन रंग का नही वस्त्र, ये ध्वज देश की शान है,
हर भारतीय के दिलो का स्वाभिमान है,
यही है गंगा, यही हैं हिमालय, यही हिन्द की जान है
और तीन रंगों में रंगा हुआ ये अपना हिन्दुस्तान हैं।

Teen Rang Ka Nahi Vastr, Ye Dhvaj Desh Ki Shaan Hai,
Har Bhartiy Ke Dilo Ka Svabhimaan Hai,
Yahi Hai Ganga, Yahi Hai Himalay, Yahi Hind Ki Jaan Hai
Aur Teen Rangon Mein Ranga Hua Ye Apna Hindustaan Hai.


desh bhakti shayari in hindi font

पर्स में अपने परिवार को रख
सीमा पर पहरा देते है जब वर्दी मिलती है
जो फुले नहीं शमाते है वो देश के खातिर
अपनों से मिलने को तरस जाते है.

pars mein Aane pariwar ko rakh 
sima par pahra dete hai jab wardi milti hai
jo phool nhi shamate hai wo desh ke khatir
apno se milne ko tars jate hai,



desh bhakti par shayari

Bas Yeh Baat Hawaao Ko Bataye Rakhna,
Roshni Hogi Chirago Ko Jalaye Rakhna,
Lahu Dekar Jiski Hifazat Ki Shaheedon Ne,
Uss Tirange Ko Sada Dil Me Basaye Rakhna.

बस ये बात हवाओं को बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाज़त की शहीदों ने,
उस तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना।




desh bhakti shayari images in hindi
desh bhakti shayari images in hindi

desh ke upar shayari

गूंज रहा है दुनिया में भारत का नगाड़ा,
चमक रहा आसमान में देश का सितारा,
आजादी के दिन आओ मिलकर करें दुआ,
की बुलंदी पर लहराता रहे तिरंगा हमारा।

gunj raha hai duniya mein bharat ka nagada
chamk raha asman mein desh ka sitara
aajaadi ke din aao milkar karen dua
ki bulandi par laharata rahe tiranga hamara.



देशभक्ति शायरी

लिख रहा हूं मैं अजांम जिसका कल आगाज आयेगा, 
मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा मैं रहूँ या 
ना रहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा कि, मेरे बाद वतन 
पर मरने वालों का सैलाब आयेगा”

Likh raha hun Aanjam jiska kal agaz ayega
mere lahu ka har ek katra inklab layega
me rahun ya na rahun par ye wada hai
tumse mera ki mere bad watan par
marne walo ka selab Aayega,


दिल को छू जाने वाली देशभक्ति शायरी

ये बात हवाओ को बताये रखना,
रोशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाजत हमने की...
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना...

ye baat hawao ko bataye rakhna 
roshni hogi chiragon ko jalaye rakhna 
lahu dekar jiski hifahat humne ki
ese tirange ko sada dil mein basaye rakhna,




desh bhakti shayari images download
desh bhakti shayari images download


देश भक्ति शायरी download

मेरा यही अंदाज ज़माने को खलता है,
कि चिराग हवा के खिलाफ क्यों जलता है,
मैं अमन पसंद हूँ,
मेरे शहर में दंगा रहने दो,
लाल और हरे में मत बांटो,
मेरी छत पर तिरंगा रहने दो।

Mera Yehi Andaaz Zamaane Ko Khalta Hai,
Ki Chirag Hawa Ke Khilaf Kyun Jalta Hai,
Main Aman Pasand Hoon,
Mere Shahar Mein Danga Rehne Do,
Laal Aur Hare Mein Mat Baanto,
Meri Chhat Par Tiranga Rehne Do.



desh bhakti shayari whatsapp status

तहे दिल से सलाम हैं भारत के ऐसे
माई के लाल को
जिन्होंने अपनी मात्रभूमि के लिए
हस्ते हस्ते जान बलिदान कर दिया
भारत माता की जय.

tahe dil se salam hai bharat ke ese
mai ke laal ko, jinhone apni matrbhoomi 
ke liye haste haste jaan balidaan kar 
diya bharat mata ki jaye.


Kumar Vishwas Desh Bhakti Shayari in Hindi

दाबोगे अगर और उभर आयेगा भारत,
हर वार पर कुछ और निखर जायेगा भारत
दस-बीस जाहिलों को ग़लतफ़हमी हुई है,
दो-चार धमाको से ही डर जायेगा भारत.

Daboge agar aur ubhar aayega bharat
har war par kuch aur nikhar jayega bharat
das bis jahilon ko galtfahmi hui hai
do char dhamako se hi dar jayega bharat.





desh bhakti shayari images hd
desh bhakti shayari images hd


Desh Bhakti Shayari 2020 in Hindi

 जिंदगी है कल्पनाओं की जंग
कुछ तो करो इसके लिए दबंग
जियो शान से भरो उमंग
लहराओ सबसे दिलों में देश के लिए तिरंग,

zindagi hai kalpnao ki jang
kuch to karo iske liye dabang 
jiyo shaan se bhari umang
laharaao sabse dilon mein 
desh ke liye tiranga.


desh Bhakti Shayari 2020 in Hindi

जब कोई पूछे मेरे बारे में 
तो मेरी यह पहचान लिख देना 
उठाना मेरा कमांडो डेगर और 
छाती पर हिंदुस्तान लिख देना। 

jab koi puche mere bare me to 
meri yah pahchan likh dena 
utha mera kamando degae aur
chhati par hindustan likh dena.




desh bhakti shayari images hd download
desh bhakti shayari images hd download

Top 10 Desh Bhakti Shayari

ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई ,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता ,
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई ,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता..!!

Zamane bhar me milte he ashiq kai
magar watan se khubsurat koi sanam nhi hota 
noton me bhi lpat kar sona mein simatkar mare he kai
magar tirange se khubsurat koi kafan nhi hota,



Desh Bhakti sms

कुछ पैन इतहास के 
मेरे मुकल के सीने में शमशीर हो गए 
जो लाडे जो मरे वो शहीद हो गए 
जो डरे जो झुके वो वजीर हो गए। 

kuch panne itahas ke
mere mukal ke sine mein shamshir ho gye
jo lade jo mare wo shahid ho gaye,
jo dare jo jhuke wo wajir ho gaye.


desh Bhakti Shayari

हर मजहब से सीखा हमने पहले आप का 
नारा मत बांटो इसे एक ही रहने दो 
हिंदुस्तान हमारा। जय हिंदी,

har majahab se sikha humne 
pehla aap ka naara mat banto 
ise ek hi rahne do hindustaan 
huamara. jai hind.






desh bhakti shayari image 2020


Desh Bhakti Shayari Attitude

मैं भारतवर्ष का हरदम अमिट सम्मान करता हूँ
यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ।

me bharatvars ka haedam samman karta hun

yahan ki chandani mitti ka hi gundgaan karta hun
mujhe chinta nhi hai swarg jakar moksh pane ki 
tiranga ho kafan mera bas yahi araman rakhta hun.


desh bhakti shayari whatsapp

हमारे भारत का राष्ट्रगान बंगा से है 
हमारे वतन की शान गंगा से है 
जो वीर मर मिटे देश की मिटटी पर 
उन शहीदों का अभिमान तिरंगा से है।

hamare bharat ka rashtrgan banga se ha 
hamare watan ki shaan ganga se hai 
jo veer mar mite desh ki mitti par 
un shahidon ka abhiman tiranga se hai.



Desh Bhakti Shayari Video

शरहद पर शहीद हुआ वो सिपाही सच्चा था 
तुमको पता है वो बिस साल का बच्चा था 

sharahad par shahid huaa sipahi saccha tha
tumko pata hai wo bis saal ka baccha tha.



Desh Bhakti Shayari 2020


कभी इनको भी याद कर लो 
इनके जैसे और पैदा हो 
ऐसी फ़रियाद कर लो। 
जय हिन्द।।

kabhi inka bhi yaad kr lo 
inke jese aur paida ho 
esi fariyaad kar lo .
jai hind|





हम उम्मीद करते हैं आपको हमारी desh bhakti shayari पसंद आई होगी, अगर आपको हमारी शायरी पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा साझा करे अपने सभी दोस्तों, परिवार, के साथ, और हमे कमैंट्स में बताये की आपको हमारी कोनसी शायरी सब से ज्यादा पसंद आई है। 


 
desh bhakti shayari : हम आप सभी देश वासियों के लिए अपने देश भारत के देश भक्तो के लिए शायरी, आपको भी देश भक्ति शायरी अपने व्हाट्सप्प स्टेटस, फेसबुक स्टेटस और भी सोशल मीडिया पर शेयर करना पसंद है तो आज की देश भक्ति शायरी हिंदी में आपके लिए लाये हैं और आप इन देश भक्ति शायरी को 15 aug और 26 jan  पर भी शेयर  हैं और अपने देश की इंडियन आर्मी के लिए शेयर कर सकते हैं, 

धन्यवाद्।।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां